अनशन पर बैठी स्वाति मालिवाल को डॉक्टर,डीसीपी,एसपी से हो रही दिक्कतें

नई दिल्ली: दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल का अनशन चौथे दिन भी जारी है। सोमवार को मालीवाल ने दिल्ली पुलिस पर अनशन तुड़वाने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मदद मांगी है। मालीवाल राजघाट के समता स्थल पर बलात्कारियों को फांसी की सजा दिलाने वाले कानून की मांग कर रही हैं।

स्वाति मालीवाल ने ट्वीट कर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को बताया कि डीसीपी, एसीपी और डॉक्टर उन्हें परेशान कर रहे हैं। स्वाति ने लिखा, “मेरा कीटोन लेवल 2 है, जोकि कुछ भी नहीं। रविवार को फर्जी मेडिकल रिपोर्ट दिखाने की भी कोशिश हुई। मैं राजघाट पर हूं, जहां से मुझे पुलिस जबरदस्ती हटाने की कोशिश कर रही है. सर, मेरी सुरक्षा कीजिए।”

स्वाति मालिवाल अनशन खत्म करने के लिए तैयार नहीं हैं। उन्होंने पीएम को लिखे खत में कहा कि जब रातों-रात नोटबंदी की जा सकती है, तो फिर रातों-रात महिलाओं की सुरक्षा के लिए प्रधानमंत्री कड़े कदम क्यों नहीं उठाते? मालीवाल ने कहा कि पीएम अपनी और पुलिस की जितनी ऊर्जा उनका अनशन तुड़वाने में लगा रहे हैं, उससे आधी ऊर्जा अगर महिलाओं के हित में लगाएं, तो देश सुधर जाएगा।

पीएम को भेजे गए उनके खत को अनशन स्थल से पढ़कर सुनाया गया।इसमें स्वाति मालीवाल ने लिखा कि अपने अनशन के चौथे दिन राजघाट आई हूं। यहां भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। जब 73 साल के अन्ना हजारे और सुगर के मरीज अरविंद केजरीवाल अनशन कर सकते हैं, तो फिर एक महिला के अनशन को खत्म करने की कोशिश क्यों कि जा रही है? पीएम साहब आप लंदन चले गए और हम यहां बेटियों के लिए लड़ रहे हैं।

दिल्ली महिला आयोग ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से अपील की कि वो एक मेडिकल टीम बनाएं, जो अनशन के दौरान तय पैरामीटर पर मेडिकल टेस्ट करे। स्वाति ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस को अनशन खत्म करवाने के लिए पीएमओ से सीधे आदेश मिले हैं।

इसके जवाब में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, “स्वाति मालीवाल हमारी बच्चियों की सुरक्षा के लिए लड़ रही हैं। हम सभी को इनका समर्थन करना चाहिए। मैं गृहमंत्री राजनाथ सिंह और एलजी अनिल बैजल से अपील करता हूं कि वो दिल्ली पुलिस को परेशान न करने का आदेश दें। एलजी और गृहमंत्री को महिला सुरक्षा के लिए कदम उठाना चाहिए।

इसके अलावा स्वाति मालीवाल ने एक ओर ट्वीट के ज़रिए धरनास्थल पर दिल्ली पुलिस को सादे कपड़ों में महिला पुलिस न भेजने की अपील की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *