कांग्रेस ने 13 जून को रखी इफ्तार पार्टी , किसको भेजा न्योता और किस से बनाई दूरी ?

सभी राजनैतिक दलों ने इफ्तार पार्टी का आयोजन मुस्लिम वर्ग को लुभाने के लिए रखा या फिर कोई अलग रणनीति बनाई जा रही है ? इसका परिणाम तो 2019 के लोक सभा चुनाव में देखने को मिलेगा। इफ्तार पार्टी की कड़ी में कांग्रेस ने यूपीए के सहयोगियों को भी पार्टी में शिरकत का निमंत्रण भेजा है। यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी की डिनर पार्टी में आने वाले सभी विपक्षी दलों के नेताओं को निमंत्रण भेजा गया है। कांग्रेस की तरफ से ये भी कहा गया है कि सहयोगी दलों के नेता वक्त न होने की स्थिति में अपने सहयोगियों को इफ्तार पार्टी में शिरकत के लिए भेजें।

कांग्रेस ने 13 जून को दिल्ली के एक होटल में इफ्तार पार्टी रखी है। यह पार्टी कांग्रेस का अल्पसंख्यक विभाग आयोजित कर रहा है , जिसमें कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को नहीं बुलाया गया है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्यालय जाने वाले पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का नाम कांग्रेस की इफ्तार पार्टी में आने वाले मेहमानों की लिस्ट में नहीं है।

दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के गठबंधन की चर्चा भी जोरों पर हैं। इसके बावजूद कांग्रेस ने अरविन्द केजरीवाल को भी न्यौता नहीं भेजा है। इसका कारण तो कांग्रेस पार्टी के नेता ही जान सकते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *