तेल उत्पादों को GST के दायरे में लाये केंद्र सरकार :पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम

पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। चिदंबरम ने कहा कि महंगे पेट्रोल, डीजल को लेकर देशभर में गुस्से का माहौल है।मोदी सरकार की खराब विदेश नीतियों की वजह से दूसरे देशों के साथ कारोबारी रिश्ते प्रभावित हुए हैं।

चिदंबरम ने कहा कि पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने पर रेट कम होंगे। ज्यादातर राज्यों में जब भाजपा की सरकार है तो फिर राज्यों को दोष क्यों दिया जा रहा है?

पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा कि पेट्रोल, डीजल और एलपीजी के रेट जानबूझकर फिक्स करने से देशभर में गुस्सा है।  केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि महंगाई बढ़ रही है, महंगाई दर का अनुमान भी ऊंचा है। कुछ दिन पहले रेपो रेट में इजाफा इसका पर्याप्त सबूत है।

किसानों का गुस्सा सड़क पर आ गया है। कृषि उत्पादों का कम भाव और मजदूरी नहीं बढ़ना इसकी बड़ी वजह है। फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य पर्याप्त नहीं है। एमएसपी में सालाना बढ़ोतरी में सरकार कंजूसी कर रही है।उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को तेल उत्पादों को भी GST के दायरे में लाना चाहिए जिस से सबको राहत मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *