विपक्षी दलों के हंगामें बीच लोकसभा और राज्यसभा की कार्रवाही स्थगित

विपक्षी दलों के सांसदों द्वारा हंगामे के बीच संसद के निचले सदन की कार्यवाही शुक्रवार को एक बार फिर बाधित हुई। विपक्षी सांसद हाथों में प्लेकार्ड लेकर लोकसभा अध्यक्ष के आसन के पास इकट्ठा होकर नारेबाजी करने लगे। जैसे ही सुबह सदन की कार्यवाही शुरू हुई, नवनिर्वाचित सदस्यों राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के सरफराज आलम (अररिया), समाजवादी पार्टी के नागेंद्र पटेल (फूलपुर) और प्रवीण निषाद (गोरखपुर) ने सांसद पद की शपथ ली। इस दौरान विपक्षी खेमे के सदस्यों ने मेजें थपथपाकर उनका स्वागत किया।

इसके बाद लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने तीन पूर्व सांसदों, भौतिक विज्ञानी स्टीफन हॉकिंग और छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सली हमले में शहीद हुए नौ जवानों के नाम शोक संदेश पढ़ा। लोकसभा अध्यक्ष द्वारा शोक संदेश पढ़ने के बाद विपक्षी दलों के सांसद एक बार फिर नारेबाजी करने लगे।

कांग्रेस, तृणमूल और वामपंथी पार्टियों सहित अन्य विपक्षी दलों ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले को लेकर नारेबाजी की। इसके आलावा आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिए जाने और कावेरी जल प्रबंधन बोर्ड पर भी हंगामा हुआ।

वहीँ संसद के ऊपरी सदन राज्यसभा में भी शुक्रवार को तेलुगू देसम पार्टी (तेदेपा), कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के हंगामे के बीच सदन की कार्यवाही अपराह्न् 2.30 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। जैसे ही कार्रवाई शुरू हुई वैसे ही तेदापा और कांग्रेस के सांसद सभापति के आसन के पास इकट्ठा हो गए और आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिए जाने की मांग करते हुए नारेबाजी करने लगे।

सभापति एम.वेंकैया नायडू ने हंगामा कर रहे सांसदों से अपनी सीटों पर जाने का आग्रह किया लेकिन सांसद टस से मस नहीं हुए। इसके बाद सभापति ने सदन की कार्यवाही अपराह्न् 2.30 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *