हिमालयन विश्वविद्यालय के विज्ञान संकाय में सेमिनार आयोजित

हिमालयन विश्वविद्यालय के विज्ञान संकाय द्वारा एक सेमिनार का आयोजन किया गया। चिंपू कैंपस के यूनिवर्सिटी हॉल में आयोजित इस सेमिनार में विज्ञान संकाय के अंतर्गत अधिकांश विभागों के चयनित छात्रों ने अपना वक्तव्य व प्रायोगिक विधि को पेश किया। इस दौरान शीर्ष तीन को प्रथम,द्वितीय तथा तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया, जबकि शेष प्रतिभाशील प्रतिभागियों को उनके बेहतर प्रदर्शन के आधार पर प्रमाण-पत्र प्रदान किया गया। रसायन विभाग अंतर्गत सीमेंट इंडस्ट्री (रसायन एवं तकनीक) हेतु प्रथम पुरस्कार मेंयरी नबम तथा राजा गुप्ता को मिला जो एमएससी द्वितीय वर्ष के छात्र हैं। वनस्पति विज्ञान विभाग से दूसरा पुरस्कार ’एथानो-बोटानिकल अध्ययन’ विषय पर एमएससी प्रथम वर्ष के छात्र चारू तालिक सेमुएल एवं तीसरा पुरस्कार ‘पारिस्थितिकीय उत्तराधिकार’ (Ecological Succession) विषय पर पूरा अंजू को मिला। सेमिनार की खास बात ये रही कि विषय काफी रोचक थे और उसमें भाग लेने वाले अधिकांश प्रतिभागी प्रतिभाशील थे। विशेष रूप से ’सुपर हाइड्रोफोबिक सर्फेस’ विषय पर अरुणा तमांग का परफॉरमेंस, ’क्वार्क्स में सीपी वॉयलेशन’ विषय पर पोर्डेमोइंग के अलावा हुरा याजू, चुन्नी सोनम का प्रदर्शन शानदार रहा। विश्वविद्यालय के अधिकारियों बताते हैं कि यह एक छोटा चरण है, जहां छात्रों ने अपने संबंधित विभागों का प्रतिनिधित्व किया है, निकट भविष्य में ये छात्र पूरे विश्वविद्यालय और देश पर अमिट छाप छोड़ेंगे। तोन्या मिरोह बताते हैं कि ऐसे साइंस-सेमिनार से छात्रों और उनके जूनियर्स को नई दिशा भी मिलती है। साथ ही वह जीवविज्ञान विभाग अंतर्गत ’कैंसर-अवेयरनेस’ विषय जैसे प्रमुख अध्ययनों पर भी आगे से प्रकाश डालने की बात कहते हैं। गणित विभाग के रिसर्चस्कॉलर गेटे अम्ब्रे ने भी छात्रों की बेहतरी को लेकर अपना विचार रखा और फेकल्टी मेंबर्स के योगदान की सराहना की।