बिहार में मैट्रिक,इंटर के बाद अब स्नातक में भी धांधली की खबर आ रही है

नई दिल्ली | अभी बिहार माध्यमिक बोर्ड के टॉपर गणेश का मसला शांत भी नहीं हुआ है कि भागलपुर विश्वविद्यालय में धांधली का एक नया मुद्दा सामने आ रहा है | तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के प्रशासनिक विभाग से महादेव सिंह कॉलेज के फेल दो छात्रों को पास करने के मामले में हुई जांच से जुड़ी फाइलें व साक्ष्य गायब कर दिए गए हैं। इतना ही नहीं ऐसे ही चार अन्य फर्जीवाड़े के मामलों में भी जरूरी कागजात व साक्ष्य नहीं मिल पा रहे हैं। हालांकि इस संबंध में विवि के अधिकारियों ने चुप्पी साध ली है। लेकिन जरूरी साक्ष्य व फाइलें नहीं मिलने से जांच प्रक्रिया प्रभावित होना तय है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक विवि के अधिकारी व दर्जनभर से अधिक कर्मचारी पिछले बीस दिनों से लगातार फाइलों और जांच से जुड़े कागजात ढूंढने में लगे हुए हैं लेकिन फाइलें नहीं मिल पा रही हैं।महादेव सिंह कॉलेज के दो फेल छात्रों को पास करने के मामले में परीक्षा नियंत्रक प्रो. अरुण कुमार सिंह पर आरोप लगे थे। इसके बाद कुलपति डॉ. नलिनीकांत झा ने मामले में जांच कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद परीक्षा नियंत्रक को हटा दिया था। इसके अलावा पूर्व परीक्षा नियंत्रक से जुड़े ऐसे ही चार अन्य मामलों में भी जांच चल रही है। कुलपति ने इस मामले में भी जांच कमेटी बनाई है। लेकिन जांच के दौरान मामले से जुड़े जरूरी साक्ष्य भी विवि के प्रशासनिक भवन से गायब हैं। समझा जा रहा है कि पूर्व परीक्षा नियंत्रक के खिलाफ चार अन्य फर्जीवाड़ों की जांच रिपोर्ट आने के बाद विवि प्रशासन उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा सकता है। यही कारण है कि जांच से जुड़ी फाइलें व जरूरी साक्ष्य गायब कर दिए गए हैं।

This article was first published on http://www.manuinfo.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *