बजट के बचे पैसे को अब तक जम्मू -कश्मीर सरकार नहीं लौटा पायी है

नई दिल्ली | कैग ने मार्च, 2016 को समाप्त साल के लिए अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 2015-16 के आखिर में 22 अनुदानों व पांच विनियोगों के मद में 10,520.33 करोड़ रुपये की बचतें हुईं| आपको बता दूँ कि पैसे की बचत तब होती है जब सरकार इन पैसों का इस्तेमाल नहीं कर सकती है |

हालांकि कैग का यह भी कहना है कि इस अवधि में संबद्ध सरकारी विभागों ने कोई राशि नहीं लौटायी| जम्मू-कश्मीर की महबूबा मुफ्ती सरकार बजट की करीब 10,520 करोड़ रुपये की राशि अब तक नहीं लौटा पायी है| कहा यह जा रहा है कि घाटी की महबूबा सरकार बजट का बचा हुआ पैसा नहीं लौटा कर राज्य की बजट नियमावली का उल्लंघन किया है|

आपको बता दूँ कि भारत के नियंत्रक व महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट के अनुसार, आवंटित बजट राशियों में की कुल 10,520 करोड़ रुपये की बची राशि को वापस नहीं सौंपकर राज्य बजट नियमावली का उल्लंघन किया है| कैग ने अपनी एक रपट में यह निष्कर्ष निकाला है. इसमें कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर सरकार लगभग 10,520 करोड़ रुपये की बजटीय बचत को लौटाने में विफल रही|

This article was first published on http://www.manuinfo.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *