कैग रिपोर्ट के मुताबिक ट्रेन में परोसा जाने वाला खाना इंसानों के खाने लायक नहीं है

नई दिल्ली | हम सभी लोगों को रेलवे में सफर करते हुए रेलवे कैटरिंग के खराब एवं बेहद घटिया किस्म के खाना को खाना पड़ता हैं | रेलवे के ख़राब खाना पर कैग की भी नजर पड़ी हैं जिसके बाद कैग रिपोर्ट में शुक्रवार को एक सनसनीखेज खुलासा हुआ है| देश के अधिकांश लोग रेल से सफर करते हैं |रेलवे के खाने को लेकर पहले भी कई शिकायतें देखने और सुनने को मिल चुकी है| शुक्रवार को नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक की ओर से संसद में रखी गई रिपोर्ट में यह चौंकाने वाला खुलासा हुआ है कि ट्रेन में परोसा जाने वाला खाना इंसानों के खाने लायक नहीं है| कैग रिपोर्ट में कहा गया है कि दूषित खाद्य पदार्थों, रिसाइकिल किया हुआ खाद्य पदार्थ और डब्बा बंद व बोतलबंद वस्तुओं का उपयोग उस पर लिखी इस्तेमाल की अंतिम तारीख के बाद भी धरल्ले से किया जा रहा है|

 

आपको बता दूँ कि सीएजी और रेलवे की जॉइंट टीम ने 74 स्टेशनों और 80 ट्रेनों का मुआयना करने के बाद यह रिपोर्ट तैयार की है| इस रिपोर्ट में इस बात की भी जिक्र हैं कि जांच में यह भी पाया गया है कि रेलवे परिसरों और ट्रेनों में साफ-सफाई का बिलकुल ध्यान नहीं रखा जा रहा है| इसके अलावा, ट्रेन में बिक रहीं चीजों का बिल न दिए जाने और फूड क्वॉलिटी में कई तरह की खामियों की भी शिकायतें हैं| ऑडिट रिपोर्ट में लिखा है, ‘पेय पदार्थों को तैयार करने के लिए नल से सीधे अशुद्ध पानी का इस्तेमाल किया जा रहा था| कूड़ेदान ढके नहीं हुए थे और उनकी नियमित अंतराल पर सफाई नहीं हो रही थी| खाने की चीजों को मक्खी, कीड़ों और धूल से बचाने के लिए उन्हें ढककर नहीं रखा जा रहा था|

हालाँकि ट्रैन पर सफर करने वाले लोगों के लिए इस रिपोर्ट में लिखी सारी बातें सामन्य लगती होगी ,ऐसा इसलिए भी क्यूंकि अक्सर ट्रैन से सफर करते हुए ऐसा देखने को मिलता रहता हैं | खाने के सामानो पर मक्खी ,कीड़ा तो सामन्य बात हैं | ट्रैन में बलगम ,कूड़ा जैसी चीजें पुरे डब्बे में फैली होती हैं | यह रिपोर्ट निश्चित रूप से आम जन के समस्याओं से जुड़ा हैं अब देखना यह हैं कि सरकार इस पर क्या और कैसे फैसला लेती हैं |

This article was first published on http://www.manuinfo.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *