CM फडणवीस से मिले भरोसे के बाद वापस लौटने को तैयार हुए किसान

नासिक से शुरू हुई किसान पैदल यात्रा जो ऑल इंडिया किसान सभा से जुड़े हुए थे,उन्होंने सोमवार को महाराष्ट्र सरकार की कमेटी से मुलाकात की। राज्य के सिंचाई मंत्री गिरीश महाजन ने कहा कि सरकार ने किसानों की मांगें मान ली हैं। इसमें जमीन हस्तांतरण के अधिकार सहित बाकी अन्य मांगें भी हैं। इस मुलाकात के बाद किसानों ने अपना आंदोलन वापस ले लिया है और किसानों के अपने घर पहुंचने के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने की भी मांग मान ली है।

ये किसान रैली शनिवार को मुलुंड से शुरू हुई थी, जो रविवार को मुंबई पहुंचीं थी। किसानों ने आम जनता को परेशानी न हो, इसे ध्यान रखते हुए रात में ही मार्च निकालने का फैसला किया था।किसानों की शिकायत के कि जो उनकी जमीन है, उससे कम उनके नाम पर है। ऐसे में अभी वो जितनी जमीन पर खेती कर रहे हैं, वो उनके नाम पर होनी चाहिए। इस मांग को भी मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मान लिया है। अब इस मामले पर राज्य के मुख्य सचिव नजर रखेंगे और आने वाले 6 महीनों के भीतर ये सभी मांगें मानी जाएंगी।किसान मुंबई में विधान भवन का घेराव करने पर अड़े थे, ताकि अपनी मांगों को मनवा सके।

इसमें पूरा लोन माफ, एमएस स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों को पूरी तरह लागू करना। साथ ही जमीन अधिग्रहण की सूरत में उचित मुआवजे की मांग भी शामिल है।इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि, उनकी सरकार किसानों और आदिवासियों की मांग के प्रति

पूरी तरह संवेदनशील है। विधानसभा में चर्चा के दौरान फडणवीस ने ये बात कही। ये चर्चा विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल द्वारा शुरू की गई, जिन्होंने इस लंबी यात्रा में शामिल होने के लिए किसानों की तारीफ की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *