लगातार बारिश हिमाचल में अब तक 16 मौतें, 923 सड़कें बंद, 24 घंटे में 263 करोड़ का नुकसान

नई दिल्लीः हिमाचल में जारी भारी बारिश ने कोहराम मचा दिया है। सोमवार को हिमाचल में एक भाजपा नेता समेत नौ लोगों की मौत हो गई है जबकि तीन लोग बह गए हैं। सोलन में एक घर पर पहाड़ मौत बनकर गिरा है। इस घटना में परिवार के चार सदस्य जिंदा दफन हो गए। बिलासपुर में मकान धंसने से भाजपा मत्स्य प्रकोष्ठ के संयोजक की जान चली गई। हमीरपुर में मकान गिरने से दादी-पोती की मौत हुई है।हिमाचल प्रदेश में रविवार और सोमवार को मौत की बारिश हुई है। भारी बारिश ने इस कदर तबाही मचा दी है कि 24 घंटे में 16 जानें चली गईं और 263 करोड़ रुपये का नुकसान हो गया। सरकार ने राहत एवं बचाव कार्य के लिए 96 करोड़ 50 लाख रुपए जारी कर दिए है।

भारी बारिश और भूस्खलन ने जगह-जगह तबाही मचा दी है। मुख्य सचिव विनीत चौधरी ने बारिश-बाढ़ से हुए नुकसान के बाद उत्पन्न स्थिति को लेकर राज्य सचिवालय में समीक्षा बैठक की। इसमें सभी जिलों के डीसी वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए जुड़े थे। बैठक में मुख्य सचिव की ओर से अधिकारियों को दिशानिर्देश दिए गए।

मॉनसून सीजन में 775 करोड़ रुपये नुकसान, 6 नेशनल हाइवे पर आवागमन ठप

मॉनसून सीजन में हिमाचल में बारिश से अब तक 775 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है. रविवार और सोमवार को केवल दो दिन में 16 लोगों की जानें गईं। 923 सड़कें भूस्खलन के कारण बाधित हैं। एसीएस लोक निर्माण मनीषा नंदा ने यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि मार्गों को बहाल करने के लिए पर्याप्त मशीनरी तैनात की गई है। छह नेशनल हाइवे भूस्खलन के चलते बाधित हैं. कुल्लू-मनाली नेशनल हाइवे भी एहतियातन बंद किया गया है.जानकारी के अनुसार, कांगड़ा में बारिश से 85 सड़कें बाधित रहीं। उधर, मंडी-पठानकोट सड़क छोटे वाहनों के लिए बहाल की गई है। हमीरपुर में 13 सड़कें भारी बारिश के कारण बाधित रहीं हैं। अनुमान है कि मंगलवार तक ये सड़कें बहाल हो जाएंगी। सोलन में कुमारहटटी-नाहन मार्ग छोटे वाहनों के लिए बहाल किया गया है। बिलासपुर में स्वारघाट नेशनल हाइवे और बिलासपुर-शिमला सड़क पर आवागमन बहाल हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *