चक्रवात ‘फेनी’ : गृह मंत्रालय ने चेताया गुरुवार तक खतरनाक चक्रवात का रूप ले सकता है तूफान

नई दिल्लीः गृह मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि चक्रवात ‘फेनी’ के कारण मंगलवार को बहुत तेज तूफान में परिवर्तित होने की आशंका है। इसके मद्देनजर राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और भारतीय तटरक्षक बल को हाई अलर्ट पर रखा गया है। साथ ही सभी मछुआरों को समुद्र में न जाने के लिए कहा गया है।

मौसम विभाग ने कहा कि गुरुवार तक यह चक्रवात बेहद खतरनाक तूफान का रूप ले सकता है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने कहा कि चक्रवाती तूफान वर्तमान में त्रिंकोमाली (श्रीलंका) से 620 किलोमीटर पूर्व, चेन्नई (तमिलनाडु) से 880 किमी दक्षिण-पूर्व में और मछलीपट्टनम (आंध्र प्रदेश) से 1050 किमी दक्षिण-दक्षिणपूर्व में है।

मौसम विभाग ने कहा, चक्रवाती तूफान 24 घंटों के अंदर बहुत ही भयंकर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है। इसके एक मई की शाम तक उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है और इसके बाद धीरे-धीरे उत्तर-उत्तर-पूर्व की ओर फिर से बढ़ने की संभावना है। आपातकालीन स्थिति मामलों की देश की शीर्ष संस्था राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) ने सोमवार को चक्रवात ‘फेनी’ से उत्पन्न स्थिति का जायजा लिया और राज्य सरकारों को तूफान से निपटने के लिए केंद्र सरकार की ओर से सभी सहायता मिलने का आश्वासन दिया।

100 किलोमीटर प्रति घंटा तक हवा की रफ्तार : आमतौर पर किसी चक्रवाती तूफान की हवाओं की गति 80-90 किलोमीटर प्रति घंटा होती है जबकि हवा की रफ्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटा तक बढ़ सकती है। अत्यंत भयंकर चक्रवाती तूफान के मामले में, हवा की गति 170-180 किमी प्रति घंटे तक हो जाती है। गुरुवार को उत्तर तटीय आंध्र प्रदेश और दक्षिण तटीय ओडिशा में कुछ स्थानों पर हल्की व मध्यम बारिश होने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *