हर राज्य में बन रहा है वॉर रूम,मिशन 2019 में जुटी बीजेपी

नई दिल्लीः बीजेपी के रणनीतिकारों ने मिशन 2019 पर काम करना शुरू कर दिया है। देश के सभी राज्यों में बीजेपी चुनावी रणनीति बनाने के लिए ‘वॉर रूम’ स्थापित कर रही है। इनमें से अधिकतर ‘वॉर रूम’ ने 15 अगस्त से काम करने शुरू कर दिए है। जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह अलग-अलग राज्यों में लगातार रैलियां कर माहौल बनाने में जुटे हैं।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक देश के प्रत्येक राज्य की राजधानी में ‘राज्य संपर्क केंद्र’ के नाम से बीजेपी ने ‘वॉर रूम’ बनाया है। ये सभी ‘वॉर रूम’ डेटा कलेक्शन करके केंद्रीय वॉर रूम को भेजेंगे, जो बीजेपी के पुराने मुख्यालय 11 अशोक रोड को बनाया गया है।

एक बीजेपी नेता ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि प्रत्येक राज्य में वॉर रूम के अलग-अलग पैमाने पर होंगे। उन्होंने कहा कि बीजेपी नेतृत्व द्वारा वॉर रूम को सभी तरह की सुविधाओं से लैस किया गया है। सभी 500 शक्ति केंद्रों पर एक-एक कॉलिंग एजेंट होगा. एक शक्ति केंद्र 2 से 3 बूथ के लिए होगा। तीन डेटा एंट्री ऑपरेटर और एक पर्यवेक्षक तैनात होंगे।

‘वॉर रूम’ में काम करने वाले प्रत्येक स्टाफ सदस्य के लिए 3×3 फिट का वर्कस्टेशन बनाया गया है। लैपटॉप, कलर प्रिंटर, सर्वर रूम और 10 एमबीपीएस स्पीड के इंटरनेट की लीज लाइन की व्यवस्था की गई है। एक ट्रेनिंग रूम बनाया गया है, जिसे मीटिंग रूम के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। एक छोटे केबिन की भी व्यवस्था की गई है। इसके अलावा ‘वॉर रूम’ में प्रवेश के लिए बॉयोमीट्रिक प्रणाली लगाई गई है।

बीजेपी नेता ने कहा कि स्टेट ‘वॉर रूम’ में मतदाताओं का डेटाबेस बनाएंगे। विशेष रूप से डिजाइन किए गए अभियान सामग्री को ईमेल और सोशल मीडिया के माध्यम के जरिए उन्हें वायरल करेंगे।

बीजेपी नेता ने बताया कि वॉर रूम के पीछे तीन प्रमुख कारण हैं। ‘वॉर रूम’ का राज्यों में विकेंद्रीकरण किया गया है, ताकि राज्य के लिहाज से जमीनी स्तर की रणनीति बनाई जा सके। स्थानीय स्तर पर राजनीतिक माहौल को समझने और उनके मुताबिक प्लान बनाने के मद्देनजर कदम उठाया गया है। इसके अलावा प्रत्येक बूथ को ट्रैक किया जा सकेगा।

बीजेपी शासित राज्यों में से एक मुख्यमंत्री ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि पार्टी नेतृत्व का निर्देश 15 अगस्त तक ‘वॉर रूम’ को शुरू कर देना था। लोकसभा चुनाव के नजदीक ‘वॉर रूम’ का आकार और भी बढ़ेगा।

बीजेपी के दूसरे नेता ने बताया कि लोकसभा चुनावों के अलावा, इस साल के अंत में मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव होने हैं। इन राज्यों के चुनाव में ‘वॉर रूम’ का उपयोग किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *