नरोदा पाटिया नरसंहार मामले में हाई कोर्ट से माया कोडनानी बरी

अहमदाबाद : 2002 के नरोदा पाटिया नरसंहार मामले में शुक्रवार (20 अप्रैल) को गुजरात हाई कोर्ट ने माया कोडनानी को बरी कर दिया है। मामले की सुनवाई करते हुए गुजरात हाईकोर्ट ने एसआईटी की विशेष अदालत के फैसले को पलटते हुए माया कोडनानी की सजा को खत्म कर दिया है। हाई कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि माया कोडनानी निर्दोष हैं। बता दें कि SIT की विशेष अदालत ने माया कोडनानी को 28 सालों की सजा सुनाई थी। वहीं, कोर्ट ने दोषी बाबू बजरंगी की सजा को बरकरार रखा है।

बता दें कि विशेष अदालत ने बाबू बजरंगी को जिंदगी की आखिरी सांस तक कारावास की सजा सुनाई गई थी लेकिन हाईकोर्ट ने इसे घटाकर 21 साल की सजा कर दी है। बाबू बजरंगी के अलावा हरेश छारा, सुरेश लंगड़ा को भी दोषी करार दिया गया है। नरोदा पाटिया नरसंहार को गुजरात दंगे के दौरान हुआ सबसे भीषण नरसंहार माना जाता है। ये गुजरात दंगों से जुड़े नौ मामलों में एक है, जिसकी जांच SIT ने की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *