कितना बादल गया है रक्षाबंधन , छूटा भीम से लेकर बाल हनुमान वाली

आज के समय में बदला कहीं से भी आ सकता हैं| उस समय को कुछ ज्यादा दिन नहीं  हुए है, जब हमें भाइयों के हाथों में बड़ी-बड़ी रखियाँ देखने को मिल जाती थी| पर वक्त के साथ सभी तरह के जीजें बादल रही हैं| अब रक्षाबंधन त्योहार को ही देख ले| भाई-बहन का त्योहार रक्षाबंधन ने बाजारों की रौनक बढ़ा दी है। यहाँ अब बाजारों में बाहुबली और मोदी राखी की धूम है। यह 50 से 250 रुपये में उपलब्ध है। बाजार में मौजूद स्टार खिलाड़ियों की राखी भी खूब पसंद की जा रही है। इसमें विराट कोहली, युवराज सिंह, शिखर धवन आदि प्रमुख हैं। चांदी की राखियों से भी बाजार गुलजार है। युवतियों को चांदी की बनी राखियां खूब पंसद आ रही हैं। शगुन के तौर पर दिए जाने वाले कई गिफ्ट भी बाजार में उपलब्ध हैं। ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए दुकानदार कई तरह के ऑॅफर भी दे रहे हैं।

यह भी देखने को मिल रहा हैं कि जो टेलीविज़न पर आने वाले कार्टून हुआ करते है, अब वो भाइयों कि सबसे ख़ास पसंद बन चूकें हैं| बाजार में मौजूद कार्टून कलाकारों से जुड़ी राखियों को बच्चे बेहद पसंद कर रहे हैं। छोटे भाईयों के लिए बहनें छोटा भीम, चुटकी, डोरेमॉन, हनुमान और बैटमैन वाली राखियां खरीद रही हैं। फैंसी घड़ियों वाली राखी का भी काफी क्रेज दिख रहा है।

कार्टून कलाकारों से जुड़ी राखियां
कार्टून कलाकारों से जुड़ी राखियां

यह भी देखा जा रहा है कि भाइयों के लिए रखिया बहुत दूर-दूर से आ रही हैं| जो बहने अपने भाई से मिल कर राखी नहीं पहना सकती, वह उसे डाक के माध्यम से अपने भाइयों तक पहुंचा रही हैं| नवयुग मार्केट के डाक घर में राखी के लिफाफों की बिक्री तीन गुना बढ़ गई है। पिछले साल लिफाफे सिर्फ 12 हजार बिके थे। लेकिन इस वर्ष अभी तक 35 हजार लिफाफों की बिक्री हुई है। डाक विभाग ने स्पेशल राखी लिफाफे मंगाए हैं। दस रुपए का यह लिफाफा वाटर प्रूफ है। डाक घर के वरिष्ठ पोस्ट मास्टर जेएस बिष्ट ने बताया कि राखी के लिए स्पेशल लिफाफों की बिक्री पिछले साल से इस साल तीन गुना हुई है।

जब भारत डिजिटल बन रहा है, तो भाइयों कि राखी कैसे पीछे रह सकती है| राखी बाजार पर डिजिटल इंडिया का असर दिख रहा है। इन डिजिटल राखियों की कीमत 100 से 200 रुपये तक है। संदेश लिखे कार्ड भी बाजारों में उपलब्ध हैं। इनकी कीमत 50 से 300 रुपये तक है। तुराब नगर के आभूषण विक्रताओं ने बताया कि इस बार बाजारों में चांदी से बनी राखियों की भी मांग बढ़ी है। यह तीन सौ से दो हजार रुपये तक में उपलब्ध हैं।  बाज़ार में लोगों की भीड़ देखते ही बनती है| कुछ लोग रखियाँ ऑनलाइन भी मांगा रहे है|

This article was first published on http://www.manuinfo.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *