लोकसभा चुनाव 2019: बलिया से बोले पीएम मोदी – ' गरीबी देखी है, इसलिए गरीबी के खिलाफ बागी हो गया हूं '

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बलिया में कांग्रेस-सपा-बसपा पर जातिवाद और गरीबों के नाम पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए तीखे हमले किये। पीएम मोदी ने कहा कि बलिया जिस तरह गुलामी से लड़ते लड़ते बागी हुआ, उसी तरह गरीबी से लड़ते लड़ते मैं भी गरीबी के खिलाफ बागी हो गया हूं। मेरी एक ही जाति है, गरीबी। इसिलिए मैंने गरीबी के खिलाफ बगावत की है।

माल्देपुर में बलिया और सलेमपुर के भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित जनसभा की शुरुआत पीएम मोदी ने भोजपुरी में भृगु बाबा को नमन करते हुए की। उन्होंने क्रांतिकारियों मंगल पांडे, चित्तू पांडे, वीर कुंवर जी के साथ ही बलिया के युवा तुर्क पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर को भी नमन किया।

पीएम मोदी ने कहा कि मां को चूल्हे के धुएं से जूझते देखा है। शौचालय न होने अौर बरसात में टपकते छत, गरीबी में बीमार होते देखा है। यह भी देखा है कि मिट्टी के तेल की ढिबरी में पढ़ाई कैसी होती है। इसी गरीबी ने हमें गरीबी से लड़ने की प्रेरणा दी है। इसी प्रेरणा से गरीबों को गैस, शौचालय दिया जा रहा है। 2022 तक हर गरीब के पास अपना पक्का घर होगा। गरीब को पांच लाख तक के मुफ्त इलाज की व्यवस्था दी गई है। छोटे किसानों के खाते में सीधे पैसे जमा किये जा रहे हैं। 23 मई के बाद हर किसान परिवार को यह मदद मिलने वाली है। छोटे किसान, खेत मजदूर, छोटे दुकानदार सभी को साठ साल बाद पेंशन मिले इसकी योजना बनेगी।

पीएम मोदी ने कहा कि सामान्य वर्ग के गरीबों को दस प्रतिशत का आरक्षण दिया गया। ओबीसी आयोग को संविधानिक दर्जा दिया गया। दो दशक से सीएम और पीएम के रूप में काम कर रहा हूं लेकिन महामिलावटी लोगों की तरह कहीं कोई बेनामी संपत्ति, फार्म हाउस, शापिंग कांप्लेक्स, लाखों की गाड़ियां और करोड़ों के बंगले नहीं हैं।

न जाति के नाम पर देता हूं, न लेता हूं
मोदी ने कहा कि गरीब के आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए खड़ा हूं। समाज के आखिरी पायदान पर खड़े व्यक्ति को सशक्त करने में जुटा हूं। महामिलावटी लोग मेरी जाति पूछ रहे हैं। मेरे दिमाग में जाति नहीं है। लोगों को घर, गैस का चूल्हा, शौचालय आदि जाति पूछकर नहीं दिया। वोट भी जाति पूछकर नहीं मांगा। न जाति के नाम पर देता हूं, न जाति के नाम पर लेता हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *