किसानों को राहत देने की तैयारी में मोदी सरकार

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने किसानों (Farmers) को राहत देने के मसले पर बुधवार रात वित्त मंत्री अरुण जेटली, कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ बैठक की। सरकार ने 2019 के आम चुनाव (Loksabha elections 2019) के मद्देनजर देशभर के किसानों को बड़ी राहत देने के लिए विचार-विमर्श किया। फिलहाल सरकार के पास चार विकल्प हैं, जिन पर किसानों को राहत देने पर गंभीरता से कार्य किया जा रहा है।

विपक्षी दलों ने पिछले कुछ दिनों के दौरान किसानों को राहत देने की मांग जोर-शोर से उठाई है। प्रधानमंत्री मोदी की देर रात की इस विषय पर की गई बैठक से स्पष्ट है कि वे इसके प्रति गंभीर हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बुधवार देर रात प्रधानमंत्री की भाजपा अध्यक्ष और अपने मंत्रिमंडल सहयोगियों के साथ करीब दो घंटे तक बैठक चली। इसके अगले दिन गुरुवार को भी संबंधित मंत्रालयों एवं नीति आयोग में आंतरिक बैठकों का दौर जारी रहा।

इन बैठकों से जुड़े एक व्यक्ति ने बताया कि सरकार ऐसे विकल्प पर आगे बढ़ना चाहती है जो आर्थिक एवं राजनीतिक रूप से सहज हो। सरकार के पास किसानों को राहत देने के चार विकल्प हैं, जिनमें से किसी एक पर वह आगे बढ़ सकती है। उन पर आगामी बैठकों में विस्तृत विचार-विमर्श किया जाएगा।

कर्ज माफी से इंकार नहीं

एक अन्य अधिकारी ने बताया कि पहले विकल्प के तहत सरकार ने किसानों की कर्ज माफी से पूरी तरह इंकार नहीं किया, लेकिन ऐसा आमतौर पर इसलिए संभव नहीं, क्योंकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इसी की मांग करते रहे हैं। ऐसा इसलिए भी क्योंकि कई राज्य पहले ही किसानों की कर्ज माफी की घोषणा कर चुके हैं। राजकोषीय व्यवस्था भी इसकी इजाजत नहीं देती। इसकी बजाय सरकार कर्ज माफी से आगे बढ़कर ऐसा समाधान ला सकती है, जो ज्यादा आकर्षक और किसानों के हित में हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *