बदायूं के हंडौरा गांव में चाय के खोखे पर पलटा गेहूं के बोरों से लदा ओवरलोड ट्रक,सात की मौत

नई दिल्ली: जिले के हजरतपुर-म्याऊं मार्ग पर हंडौरा गांव के सामने गेहूं के बोरों से लदा ओवरलोड ट्रक स्पीड ब्रेकर के पास सामने आए जानवर को बचाने फेर में सड़क किनारे रखे चाय के खोखे पर लट गया। हादसे में खोखा स्वामी की दो नातिन समेत सात लोगों की ट्रक के नीचे दबकर मौत हो गई। 12 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। मरने वालों में पांच कांवड़िये भी शामिल हैं। हादसे की जानकारी होते ही डीएम, एसएसपी समेत पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए। जेसीबी और क्रेन की मदद से ट्रक के नीचे दबे लोगों और शवों को निकाला गया। देर रात तक सात लोगों के मरने की पुष्टि जिला प्रशासन ने की है। जानकारी होने पर देर रात मुख्यमंत्री ने हादसे पर शोक जताया और मरने वाले लोगों के परिजनों को दो-दो लाख और घायलों के परिजनों को 50-50 हजार रुपये की मदद देने की घोषणा की है।

हादसा उसावां थाना क्षेत्र में हंडौरा गांव के पास म्याऊं-हजरतपुर मार्ग पर सोमवार रात नौ बजे हुआ। दातागंज क्षेत्र के गांव डहरपुर कलां से गेहूं के बोरे लेकर ट्रक म्याऊं के लिए जा रहा था। रास्ते में हंडौरा गांव निवासी सोनपाल के खोखे पर कांवड़ियों का जत्था सामान खरीद रहा था। इसी दौरान ब्रेकर के पास जानवर सामने आने पर चालक ने तेजी से ब्रेक लगा दिए। इससे गेहूं से लदा ओवरलोड ट्रक खोखे पर पलट गया।

हादसे में खोखा स्वामी समेत वहां मौजूद कांवड़िया एवं अन्य राहगीर ट्रक के नीचे दब गए। हादसे में किसी का हाथ शरीर से अलग हो गया तो किसी का पैर। तीन बाइक भी ट्रक के नीचे आने से चकनाचूर हो गईं। पुलिस और प्रशासन अधिकारियों ने राहत कार्य शुरू करवाया। देर रात तक ट्रक के नीचे दबे लोगों को निकाला जा सका। इसमें खोखा स्वामी सोनपाल की नातिन पांच वर्षीय काजल और दो वर्ष नंदिनी पुत्री सुरेंद्र निवासी हड़ौरा की पहचान हो गई, अन्य पांच कांवड़िए बदायूं के हजरतपुर क्षेत्र के रहने वाले हैं। हादसे में सोनपाल और इनका भतीजा देवपाल समेत आधा दर्जन कांवड़ियों के साथ ही अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

ट्रक में आगजनी की कोशिश
दर्दनाक हादसे के बाद ग्रामीणों का पुलिस प्रशासन के खिलाफ गुस्सा फूट पड़ा। ग्रामीणों ने राहत बचाव कार्य के दौरान ट्रक में आगजनी की कोशिश की है। मौके पर पहुंचे दातागंज विधायक राजीव कुमार सिंह, सदर विधायक महेश चंद्र गुप्ता, भाजपा नेता शारदाकांत पाठक, डीएम दिनेश कुमार सिंह व एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी ने हादसे के बाद आक्रोशित ग्रामीणों को समझाबुझाकर बामुश्किल शांत करा पाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *