नियंत्रण रेखा के रास्ते पाकिस्तान को व्यापार से रोका, सियासत हुई शुरू

नई दिल्लीः केंद्र सरकार ने गुरुवार को जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा के दो रास्तों से होने वाले व्यापार पर रोक लगा दी। सरकार ने एक आधिकारिक बयान जारी कर कहा कि यह फैसला उन रिपोर्ट के आधार पर किया गया है जिसमें कहा गया है कि इन रास्तों का दुरुपयोग किया जा रहा है।

एलओसी पर व्यापार की अनुमति जम्मू-कश्मीर में दोनों तरफ के लोगों को साझा उपयोग की वस्तुओं की अदला-बदली के लिए दी गई थी। व्यापार की अनुमति दो सुविधा केंद्रों बारामूला जिले में सलामाबाद, उरी और पुंछ जिले में चक्कन द बाग के जरिये दी गई थी।

मिली थी रिपोर्ट :

सरकार का कहना है कि इस तरह की रिपोर्ट मिल रही थी कि एलओसी व्यापार सुविधा का बड़े पैमाने पर दुरुपयोग किया जा रहा था। इस सुविधा का दुरुपयोग करते हुए व्यापार का मूल चरित्र बदल दिया गया और इसमें तीसरी पार्टी शामिल हो गई। विदेशी सामानों को इस रास्ते से भारतीय सीमा में अवैध तरीके से भेजा जा रहा था।

अमल के लिए तंत्र :

पुलवामा हमले के बाद सरकार ने पाकिस्तान का सर्वाधिक तरजीही देश (एमएफएन) का दर्जा भी छीन लिया था। ताजा *फैसले पर अमल के लिए सरकार ने *कड़े नियामक और प्रभावी तंत्र बनाने को कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *