फ्रांस के बियारित्ज शहर में जी-7 शिखर सम्मेलन खत्म करने के बाद भारत लौटे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय अरुण जेटली को श्रद्धांजलि दी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय अरुण जेटली को श्रद्धांजलि देने के लिए पहुंचे और यहां उन्होंने उनके परिवार के सदस्यों के साथ भी मुलाकात की। आपको बता दें कि फ्रांस के बियारित्ज शहर में जी-7 शिखर सम्मेलन में शिरकत करने के बाद मंगलवार को भारत लौट आए हैं। वहीं सोमवार को अरुण जेटली की अस्थियां हरिद्वार में गंगा में प्रवाहित कर दी गयीं। जेटली (66) का शनिवार को दिल्ली के एम्स में निधन हो गया था। वह यहां नौ अगस्त से भर्ती थे।

  • मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बताया जा रहा है कि आज सुबह 11 बजे पीएम मोदी जेटली के परिवार से मिलने के लिए उनके निवास स्थान कैलाश कालोनी जाएंगे।
  • अरुण जेटली के पुत्र रोहन ने गंगा तट पर विधिवत पूर्जा अर्चना कर उनकी अस्थियां मोक्षदायिनी गंगा नदी में प्रवाहित कीं। इस मौके पर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, योग गुरू रामदेव, राज्य विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट के अलावा प्रदेश भाजपा के कई नेता मौजूद रहे ।

जेटली के परिवार ने पीएम मोदी से दौरा रद्द ना करने को कहा था
अरुण जेटली के निधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त अरब अमीरात से जेटली के परिवार से बात की थी। पीएम मोदी ने अरुण जेटली की पत्नी और उनके बेटे से बात की और संवेदना जाहिर की थी। इस बातचीत के दौरान जेटली के परिवार ने प्रधानमंत्री से अपील की है कि वे अपना विदेश दौरा रद्द ना करें। पीएम ने ट्वीट कर जेटली के निधन पर गहरा दुख जाहिर किया था।

अरुण जेटली के निधन पर पीएम मोदी किए ये पांच भावुक ट्वीट

जेटली के निधन पर पीएम मोदी ने पहला ट्वीट करते हुए कहा था “अरुण जेटली के निधन के बाद मैंने एक महत्वपूर्ण दोस्त को खो दिया है, जिन्हें कई दशकों से जानता था। उनके जैसे मामलों पर अंतरदृष्टि और समझ कुछ लोगों में ही होती है। वे अनगिनत यादों के साथ छोड़कर हमें चले गए। हम उन्हें याद करते रहेंगे।”

दूसरे ट्वीट में पीएम मोदी ने कहा- बीजेपी और अरुण जेटली का अटूट रिश्ता था। एक जोशीले छात्र नेता के तौर पर वे आपातकाल के दौरान लोकतंत्र को बचाने के लिए सबसे आगे थे। वह हमारी पार्टी का एक ऐसा चेहरा बन गए जो पार्टी कार्यक्रमों और विचारधाराओं को समाज में फैलाया।

पीएम मोदी ने अपने तीसरे ट्वीट में कहा- उनके लंबे राजनीतिक करियर में अरुण जेटली ने कई महत्वपूर्ण मंत्रालय का पदभार संभाला। जिसके जरिए उन्होंने भारत की आर्थिक प्रगति, रक्षा क्षमता को मजबूत करने, पीपुल फ्राइंडली कानून बनाने और अन्य देशों के साथ व्यापार को बढ़ाने में अपना योगदान दिया।

पीएम मोदी ने अपने चौथे ट्वीट में कहा- अरुण जेटली की समाज के सभी वर्गों के लोग तारीफ करते थे। वह बहूमुखी व्यक्ति थी जिन्हें भारतीय संविधान, इतिहास, पब्लिक पॉलिसी, शासन और प्रशासन की शानदार जानकारी थी।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर रहा कि अरुण जेटली एक बड़े राजनेता थे। वह एक ऐसा नेता थे जिन्होंने आखिरी वक्त तक देश में अपना योगदान दिया। उनका जाना काफी दुखदायक है। उनकी पत्नी संगीता और उनके बेटे रोहन से बात कर संवेदना व्यक्त किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *