चुणाव के जीत के बाद पीएम मोदी ने आडवाणी और जोशी को दिया जीत का क्रेडिट

नई दिल्लीः 17वीं लोकसभा चुनाव जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी से मिलकर आशीर्वाद लिया। सुबह साढ़े दस बजे प्रधानमंत्री मोदी और शाह आडवाणी के घर पहुंचे और उनसे पार्टी को मिली बड़ी जीत पर चर्चा की। इसके बाद प्रधानमंत्री ने अपने ट्विटर हैंडल पर मुलाकात की एक तस्वीर साझा की और कहा कि इन्हीं लोगों के बदौलत पार्टी जीत का परचम लहराने में कामयाब रही।
लाल कृष्ण आडवाणी से मुलाकात करने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘आडवाणी जी से आज मुलाकात की। भाजपा की सफलता आज इसलिए संभव हो पाई है क्योंकि उनके जैसे महान लोगों ने दशकों तक पार्टी का निर्माण किया और लोगों को एक नई वैचारिकता प्रदान की।’

मुरली मनोहर से मिले जोशी
लालकृष्ण आडवाणी से मिलने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी से मिलने पहुंचे। उनके साथ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे। मुरली मनोहर जोशी की तारीफ करते हुए मोदी ने लिखा, ‘डॉ. मुरली मनोहर जोशी एक विद्वान और बुद्धिजीवी हैं। भारतीय शिक्षा को बेहतर बनाने की दिशा में उनका योगदान उल्लेखनीय है। उन्होंने हमेशा बीजेपी को मजबूत करने का काम किया और मेरे सहित कई कार्यकर्ताओं का उत्साहवर्धन किया। आज सुबह उनसे मुलाकात की और उनका आशीर्वाद लिया।

पीएम मोदी से मुलाकात के बाद मुरली मनोहर जोशी ने पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि भाजपा में हमेशा से परंपरा रही है। पार्टी के बड़े नेताओं से पार्टी नेता आशीर्वाद लेते हैं और इसी के तहत पीएम मोदी और शाह उनसे मिलने आए थे। जोशी ने कहा कि हमलोगों ने एक बीज लगाया था अब वो बड़ा हो गया है। हम कामना करते हैं यह फलदायी पेड़ जनता के लिए स्वादिष्ट हो। उन्होंने कहा कि देश के सामने एक मजबूत सरकार बनाने की आवश्यकता पूरा देश महसूस कर रहा था। भाजपा और मोदी के अलावा कोई विकल्प नहीं था। विपक्ष अपनी मनचाही कहानी लोगों को सुना नहीं पाया। मैं जो करता रहा हूं, वही करता रहूंगा। पार्टी क्या करना चाहती है, वह पार्टी अध्यक्ष तय करेंगे।’

आज हो सकती है संसदीय दल की बैठक
माना जा रहा है कि शुक्रवार को भाजपा के संसदीय दल की बैठक हो सकती है। जिसमें नए सरकार के गठन और मंत्रीमंडल में शामिल होने वाले नेताओं के नामों पर चर्चा होगी। सभी विजेता सांसदों को 25 मई तक भाजपा मुख्यालय आने के निर्देश दिए गए हैं। खबरें हैं कि इस बार मंत्रिमंडल में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के कंधों पर नई जिम्मेदारी दी जा सकती है।

30 मई को नई सरकार ले सकती है शपथ
खबरों के अनुसार 30 मई को नई सरकार शपथ ले सकती है। शाम के चार से पांच बजे के बीच शपथग्रहण समारोह होगा।
शपथग्रहण से पहले बनारस और गुजरात जाएंगे मोदी
दोबारा प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ लेने से पहले प्रधानमंत्री वाराणसी और गुजरात के लोगों का आशीर्वाद लेने के लिए जा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *