बीआर पाटिल चौका लागने की तैयारी, ”अंलद” सीट से

भोजराज रामचंद्रप्पा पाटिल (बीआर पाटिल) कर्नाटक की राजनीति के जाने-माने चेहरा हैं। और राज्य विधानसभा कुलबुर्गी के अलंद तालुक से प्रतिनिधित्व करते है। बीआर पाटिल अब तक इस विधानसभा के 3 बार विधायक चुने जा चुके हैं। पाटिल इसके अलावा राज्य विधान परिषद के सदस्य के साथ वह डिप्टी चेयरमैन थे। बीआर पाटिल कर्नाटक की क्षेत्रीय पार्टी ‘कर्नाटक जनता पार्टी’ के नेता थे। लेकिन पिछले साल जून में उन्होंने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है।

बीआर पाटिल ने कर्नाटक जनता पार्टी का गठन 9 दिसंबर 2012 को किया गया था। बाद में फिर 2014 में इस पार्टी का पुनर्गठन कर दिया गया। हालांकि पद्मानाभा प्रसन्ना ने 2008 में ही इस पार्टी रजिस्टर्ड करवा ली थी। लेकिन नवंबर 2012 में येदियुरप्पा के बीजेपी से त्यागपत्र देने और पार्टी के साथ जुड़ने के बाद दिसंबर में इसका औपचारिक गठन किया गया। 2013 में येदियुरप्पा ने फिर से बीजेपी के साथ चले जाने के बाद पार्टी में फूट पड़ गई थी। इसके बाद बीआर पाटिल कांग्रेस से जुड़ गए थे।

आपको बाते दें कि बीआर पाटिल 1983 में पहली बार जनता पार्टी के टिकट पर अलंद के विधायक चुने गए थे इसके बाद 2004 में जनता दल (एस) के टिकट पर विधानसभा पहुंचे थे। फिर उन्होंने 2013 में कर्नाटक जनता पक्ष के टिकट पर जीत हासिल की थी। पाटिल ने पिछले चुनाव में ‘कर्नाटक जनता पार्टी’ के टिकट पर जनता दल (एस) के सुभाष गुट्टेदार को 67,085 मतों के अंतर से हराकर जीत हासिल की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *