संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया पर लगाए कड़े प्रतिबंध

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया पर लगाए कड़े  प्रतिबंध
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया पर लगाए कड़े प्रतिबंध

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सोमवार को सर्वसम्मति से उस प्रस्ताव को मंजुरी दे दी है, जिसके तहत उत्तर कोरिया पर अब तक के सबसे कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं। 3 सितंबर को देश का छठा शक्‍तिशाली परमाणु परीक्षण को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। सभी सदस्‍य देशों ने संयुक्त राष्ट्र की बैठक में 15-0 से वोट देकर अपनी सहमति जतायी। इन प्रतिबंधों से उत्तर कोरिया के बड़े निर्यातों को निशाना बनाया गया है, साथ ही उसे तेल की आपूर्ति में 30 फीसदी की कटौती की जाएगी। नए प्रतिबंधों के तहत उत्तर कोरिया के 90 फीसदी निर्यात पर पाबंदी लगेगी। इसके तहत उत्तर कोरिया भेजे जाने वाले कोयला, लीड और सीफूड पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जाएगा।

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने कहा हम कभी भी परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया को स्वीकार नहीं करेंगे। सुरक्षा परिषद कह रहा है कि अगर उत्तर कोरिया शासन ने अपना परमाणु कार्यक्रम बंद नहीं किया, तो हम उसे रोकने के लिए खुद कदम उठाएंगे। ‘ उन्होंने कहा, ‘हमने कोशिश की कि शासन सही कार्य करे। अब हम गलत काम करते रहने की क्षमता हासिल करने से उसे रोकने के लिए कदम उठा रहे हैं।’ हेली ने कहा कि इसके लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रमों को ईंधन एवं धन मुहैया करवाने वाले साधनों को निशाना बना रहा है।

अमेरिकी राजदूत ने जिक्र किया कि उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार बनाने एवं उसे बांटने में तेल की मुख्य भूमिका है। उन्होंने कहा कि प्रस्ताव के तहत गैस, डीजल और भारी ईंधन तेल में 55 प्रतिशत तक कटौती करने से उत्तर कोरिया को मिलने वाले तेल में 30 प्रतिशत तक की कमी आएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *