जापान में घूमना अब पड़ेगा महंगा, देना पड़ेगा 'विदाई' टैक्स

नई दिल्लीः जापान देश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए जापान प्रत्येक विदेशी यात्री से विदाई कर वसूलेगा। इसके तहत सोमवार से देश छोड़कर जाने वाले पर्यटकों से एक हजार येन (करीब 642 रुपये) कर वसूल किया जाएगा। यह कर हवाई और समुद्र मार्ग से यात्रा करने वाले यात्रियों से लिया जाएगा। हालांकि, 24 घंटे के भीतर देश छोड़ने वालों को यह कर नहीं देना होगा। जापान सरकार की योजना इस कर के जरिये 50 अरब येन जुटाकर 2020 में होने वाले ओलंपिक और पैरालिम्पिक्स का भव्य आयोजन कर दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करना है।

सरकार की नीति के अनुसार, कर आय मुख्य रूप से तीन उद्देश्यों के लिए आवंटित की जाएगी। इसके तहत विदेशी पर्यटकों के लिए यात्री सुविधाओं को बेहतर बनाया जाएगा। नए पर्यटन स्थल का विकास और उसकी विस्तृत जानकारी पर्यटकों को दी जाएगी। साथ ही जापानी संस्कृति और रीजनल एरिया की खूबसूरती से पर्यटकों को अवगत कराना है। जापान सरकार ने 1992 के बार पहली बार कोई स्थायी कर लगाया है।

तेजी से बढ़ी पर्यटकों की संख्या
हाल के सालों में जापान आने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्या तेजी से बढ़ी है। जापान टूरिज्म एजेंसी के मुताबिक, 2018 में पहली बार विदेशी पर्यटकों की संख्या 3 करोड़ के पार कर गई। जापान में पर्यटकों की संख्या बढ़ाने में सबसे बड़ा योगदान एशियाई देशों के यात्रियों का रहा। चीन, दक्षिण कोरिया, ताइवान और हांगकांग से सबसे ज्यादा पर्यटक जापान की यात्रा करने गए। जापान सरकार की योजना 2020 तक विदेशी पर्यटकों की संख्या बढ़ाकर 4 करोड़ करना है। इसमें यूरोपीय यात्रियों की संख्या भी बढ़ाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *